बुद्ध वन्दना अर्थ सहित हिंदी में Including Buddha Vandana meaning in Hindi - Baudh Young Organization

Post Top Ad

Post Top Ad

22 October 2016

बुद्ध वन्दना अर्थ सहित हिंदी में Including Buddha Vandana meaning in Hindi

 नमो तस्स भगवतो अरहतो  सम्मा सम्बुद्धस्स

बुद्ध वन्दना
                                               नमो तस्स भगवतो अरहतो  सम्मा सम्बुद्धस्स                                              
              नमो तस्स भगवतो अरहतो  सम्मा सम्बुद्धस्स ।               
नमो तस्स भगवतो अरहतो सम्मा सम्बुद्धस्स ।

अर्थ:


        उन भगवन अर्हत सम्यक सम्बुद्ध को नमस्कार।
           उन भगवन अर्हत सम्यक सम्बुद्ध को नमस्कार।
           उन भगवन अर्हत सम्यक सम्बुद्ध को नमस्कार।
        त्रिशरण
          
बुद्धं सरणं गच्छामि।
धम्म सरणं गच्छामि।
संघ  सरणं गच्छामि।

दुतियम्पि बुद्धं सरणं गच्छामि।
दुतियम्पि धम्म सरणं गच्छामि।
दुतियम्पि संघ  सरणं गच्छामि।
ततियम्पि  बुद्धं सरणं गच्छामि।
ततियम्पि  धम्म सरणं गच्छामि।
ततियम्पि  संघ  सरणं गच्छामि।

अर्थ:-




मैं बुद्ध की शरण में जाता हूं।
मैं धम्म की शरण में जाता हूँ।
मैं संघ की शरण में जाता हूँ।

मैं दूसरी बार भी बुद्ध की शरण में जाता हूँ।
मैं दूसरी बार भी धम्म की शरण में जाता हूँ।
मैं दूसरी बार भी संघ की शरण में जाता हूँ।
मैं तीसरी बार भी बुद्ध की शरण में जाता हूँ।
मैं तीसरी बार भी धम्म की शरण में जाता हूँ।
मैं तीसरी बार भी संघ की शरण में जाता हू

   पंचशील
1.पाणतिपाता वेरमणी सिक्खापदं समादियामि।
  2. अदिन्नादाना  वेरमणी सिक्खापदं समादियामि।
  3. कामेसु मिच्छाचारा  वेरमणी सिक्खापदं समादियामि।
4.मुसावादा वेरमणी सिक्खापदं समादियामि।
5.सुरा-मेरय-मज्ज-पमादट्ठानावेरमणी सिक्खापदं समादियामि।
भवतु सब्ब मंगलं


अर्थ मैं अकारण प्राणी हिंसा से दूर रहने की शिक्षा ग्रहण करता हूँ।
         मैं बिना दी गयी वस्तु को न लेने की शिक्षा ग्रहण करता हूँ।
           मैं कामभावना से विरत रहने की शिक्षा ग्रहण करता हूँ।
              मैं झूठ बोलने और चुगली करने से विरत रहने की शिक्षा ग्रहण करता हूँ।
                मैं कच्ची-पक्की शराब,नशीली वस्तुओं के प्रयोग से विरत रहने की शिक्षा ग्रहण करता हूँ।
 सबका मंगल हो
साधू     साधू     साधू

11 comments:

  1. शरणं का अर्थ रास्ता होता है ऐसा सुनने में आया है

    ReplyDelete
    Replies
    1. सरन का मतलब होता है, आपकी छःत्र-छाया(kisi k under)जाना

      Delete
  2. Sharan ka arth bss itna hai ki hm unki bato manne ke liye taiyar hai

    ReplyDelete
  3. शरण का अर्थ उस जगह से है जहां हम विश्राम करते हैं

    ReplyDelete
    Replies
    1. शरणं का अर्थ आश्रय देनेवाला होता है मित्र , जिसका तात्पर्य बुद्ध की शरणं में जाना यानि, तृष्णा बुरे बिकार को छोड़ एक सही दिशा की ओर जाना, इसके अलग-अलग कई मायने हैं अब यह आप पर निर्भर करता है कि किस नजरिये से सोचते हैं.

      Delete
    2. साधू साधू साधू का अर्थ क्या है

      Delete
  4. bahut hi achhe se smjhaya hai apne.. bahut bahut dhnyawad..jay bheem sir

    ReplyDelete
  5. बुद्धम शरणम गच्छामि क्या यह वाक्य संस्कृत का है या पाली का क्योंकि बुद्ध के समय में तो पाली भाषा थी तो यह आखिर किस भाषा का है

    ReplyDelete

Post Top Ad